Wo Bulati Hai Magar Jane Ka Nahi Nagpuri Song

आप सभी के लिए पेश है Wo Bulati Hai Magar Jane Ka Nahi Nagpuri Song एक सुपरहिट नागपुरी गाना के Lyrics. इस गाने ने नागपुरी जगत में एक अलग ही पहचान बनाकर बहुत ही प्रसिद्धी हासिल किया है और अभी तक भी चलन (Trend) में है । इस गाने के गीतकार Keshav Kesariya जी हैं एवं इस गाने को अपनी सुरमयी आवाज दिये हैं – Keshav Kesariya जी हैं इस गाने में Raj Bhai जी और Khushiअभिनय किये हैं लोग इस गाने को बहुत पसंद कर रहे है और खूब सारा प्यार दे रहे हैं।

Wo Bulati Hai Magar Jane Ka Nahi Nagpuri Song Lyrics in Hindi

वो बुलाती है मगर जाने का नई

निकल गयी जो धोखेबाज
उसकी सहेली करती है प्यार
अरे निकल गयी जो धोखेबाज
उसकी सहेली करती है प्यार
तोड़ गयी जो दिल को आज
उसकी सहेली करती है प्यार
खा गया धोखा फिर दुबारा खाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
निकल गयी जो धोखेबाज
उसकी सहेली करती है प्यार
तोड़ गयी जो दिल को आज
उसकी सहेली करती है प्यार
खा गया धोखा फिर दुबारा खाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई

1.
भोली सुरतिया उसकी मन को लुभाती है
नैनो से कुछ कुछ बोल के दिवाना बनाती है
भोली सुरतिया उसकी मन को लुभाती है
नैनो से कुछ कुछ बोल के दिवाना बनाती है
पर उसकी अदा में हम तो फिदा होने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
2.
हो टूट गया है भरोसा प्यार मोहोब्बत से
फिर भी क्यूं दिल खींचा जाये उसकी मासूमियत पे
हो टूट गया है भरोसा प्यार मोहोब्बत से
फिर भी क्यूं दिल खींचा जाये उसकी मासूमियत पे
पर अपनी दिल की बातों में हम को आने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
निकल गयी जो धोखेबाज
उसकी सहेली करती है प्यार
तोड़ गयी जो दिल को आज
उसकी सहेली करती है प्यार
खा गया धोखा फिर दुबारा खाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई
वो बुलाती है मगर जाने का नई

Wo Bulati Hai Magar Jane Ka Nahi Nagpuri Song Lyrics in English

Wo Bulati Hai Magar Jane Ka Nai

Nikal gayi jo dhokhebaj
Uski saheli karti hai pyar
Are nikal gayi jo dhokhebaj
Uski saheli karti hai pyar
Tod gayi jo dil ko aaj
Uski saheli karti hai pyar
Wo bulati hai magar jane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai
Nikal gayi jo dhokhebaj
Uski saheli karti hai pyar
Tod gayi jo dil ko aaj
Uski saheli karti hai pyar
Wo bulati hai magar jane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai

1.
Bholi suratiya uski man ko lubhati hai
Naino se kuch kuch bol ke deewana banati hai
Bholi suratiya uski man ko lubhati hai
Naino se kuch kuch bol ke deewana banati hai
Par uski aada mai hamlo fida hone ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai

2.
Ho tut gaya hai bharosa pyar mohabat se
Fir bhi kyu dil khecha jaye uski masumiyat pe
Ho tut gaya hai bharosa pyar mohabat se
Fir bhi kyu dil khecha jaye uski masumiyat pe
Par apni dil ki baato mai hamlo aane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai
Nikal gayi jo dhokhebaj
Uski saheli karti hai pyar
Tod gayi jo dil ko aaj
Uski saheli karti hai pyar
Wo bulati hai magar jane ka nai
Wo bulati hai magar jane ka nai